अब एक केमिकल सिग्नल आपकी याददास्त बढायेगा

एक नये संशोधन मे बताया की अभी की दवाईया भूलने की बीमारी या पागलपन के मरीज के दिमाग के केमिकल सिग्नल को कैसे बढाया जाये। इसके परिणाम ने एक नया रास्ता खोला है जिससे एसी बीमारी के साथ साथ तंदुरस्त लोगो की याददास्त को भी बढाया जा सकेगा।

ब्रिस्टल युनिवर्सिटी की मेडिकल रिसर्चर्स की टीम ने चुनौतीपूर्ण मानसिक कार्यो के दौरान दिमाग मे एक केमिकल, ‘एसेटायल्कोलाइन’ के स्त्राव की मात्रा घटती-बढती रहती है।

ब्रिस्टल सेन्टर फोर सिनेप्टिक प्लास्टिसिटी के संंशोधको की टीम के लीडर, जैक मेलर ने कहा, “ये जाँँच-परीणाम स्मृृति और संंज्ञानात्मक विज्ञप्ति के दौरान लगातार और तेजी से दिमाग की अनुकूलन स्थापित करने की प्रक्रिया के बारे मे है। अलझाइमर्स (भूलने की बिमारी) और पागलपन जैसे दिमागी खामीओंं के लिए कई वर्तमान और भविष्य की ड्रग-थेरापी मे एसेटायल्कोलाइन जैसे केमिकल सिस्टम को लक्ष्य मे लिया गया है। जिसमे इस संंशोधन-परीणाम से भविष्य के डेवलपमेन्ट तथा तबीबी उपयोग के लिए बडे ही महत्त्वपूर्ण है।”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *